Browse songs by

pareshaa.N thaa, pareshaa.N hai ye dil kamabaKt dil meraa - - Abdul Shakoor

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


परेशाँ था, परेशाँ है
ये दिल कम्बख़्त दिल मेरा
हाए दिल मेरा
परेशाँ था, परेशाँ है

मेरे गुल्शन के गुल सारे
खिले इक पल न बेचारे
कभी इन पर बहार आए
ये अरमाँ था, ये अर्माँ है

जो मर्हम काम कर जाता
तो कोई ज़ख़्म भर जाता
मेरे ज़ख़्मों पे मर्हम का
न एह्साँ था, न एह्साँ है

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image