Browse songs by

lachhamii muurat daras dikhaaye

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


लछमी मूरत दरस दिखाये -२
सिर पर मुकुत गले में माला -२
मन ललचाये
लछमी मूरत दरस दिखाये -२

( है क्या कोई सोहावन सपना
धन माया सब अपना-अपना ) -२
नाहिं-नाहिं खूली आँख में
नाहिं-नाहिं नहीं खूली आँख में
सपना कहाँ समाय

लछमी मूरत दरस दिखाये -२

लालच की खरी बी धूप ये है
ना पिछले जनम की रूप ये है
लालच की खरी बी धूप ये है
ना पिछले जनम की ये रूप पे है

( हो नहीं सकता डूबा सूरज
रात को सामने आये ) -२
( ना धोखा ना ये छल है
क्या पिछले करम का फल है ) -२
कोई जतन हो जाये
ये देवि हाथ न आ

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image