Browse songs by

garache sau baar Gam\-e\-hijr se jaa.N guzarii hai

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


गरचे सौ बार ग़म-ए-हिज्र से जाँ गुज़री है
फिर भी जो दिल पे गुज़रनी थी कहाँ गुज़री है

आप ठहरे हैं तो ठहरा है निज़ाम-ए-आलम
आप गुज़रे हैं तो इक मौज-ए-रवाँ गुज़री है

होश में आये तो बतलाये तेरा दीवाना
दिन गुज़ारा है कहाँ रात कहाँ गुज़री है

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image