Browse songs by

ek zaraa dil ke kariib aao to kuchh chain pa.De

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


एक ज़रा दिल के करीब आओ तो कुछ चैन पड़े
जाम को जाम से टकराओ तो कुछ चैन पड़े

दिल उलझता है नग़मा-ओ-मय रंगीन सुनकर
गीत एक ददर् भरा गाओ तो कुछ चैन पड़े

बैठे बैठे तो हर मौज से दिल दहलेगा
बढ़के तूफ़ान से टकराओ तो कुछ चैन पड़े

दाग़ के शेर जवानी में भले लगते हैं
मिर की कोई ग़ज़ल गाओ तो कुछ चैन पड़े

याद-ए-अय्या में गुज़िश्ताँ से इजाज़त लेकर
'तर्ज़' कुछ देर को सो जाओ तो कुछ चैन पड़े

Comments/Credits:

			 % Transliterator: K Vijay Kumar
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image