Browse songs by

ek dafaa ek ja.ngal thaa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


एक दफ़ा एक जंगल था
उस जंगल में एक गीदड़ था
बड़ा लोफ़र बड़ा लीचड़ आवारा
जंगल पार एक बस्ती थी
उस बस्ती में वह जाता था
रोज़ाना
एक दफ़ा एक जंगल था ...

एक दफ़ा उस बस्ती के
कुत्तों ने उसको देख लिया
इस मोड़ से उसको दौड़ाया
उस मोड़ पे जा के घेर लिया
जब कुछ ना सूझा गीदड़ को
दीवार से ऊपर कूदा
उस पार किसी का आँगन था
आँगन में नील की हांडी थी
वह नीली थी
उस नील में यूँ गिरा गीदड़
सब हो गया कीचड़ ही कीचड़
कीचड़
जितने थे जंगल में वह सब
गीदड़ का पानी भरने लगे
सब समझे कोई अवतार है वो
सब उसकी सेवा करने लगे
सावन के महीने में इक दिन
कुछ गीदड़ मिल के गाने लगे
नीले गीदड़ को जोश आया
बिरादरी पर इतराने लगा
और झूम के जब आलाप किया
आ आ
पहचाने गए और पकड़े गए
हर एक ने ख़ूब पिटाई की
और सबने ख़ूब धुनाई की
दे दनादन ले दनादन -२

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image