Browse songs by

zulf raato.n sii hai ra.ngat hai ujaalo.n jaisii

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


ज़ुल्फ़ रातों सी है रंगत है उजालों जैसी
पर तबीयत है अभी भूलने वालों जैसी

ढूँढता फिरता हूँ लोगों में शबाहत उसकी
के वो ख़्वाबों में भी लगती है ख़यालों जैसी

किस इलाजार-ए-मुसाफ़त से मैं लौटा हूँ के हैं
आँसुओं में भी टपक पाँव के छालों जैसी

उसकी बातें भी दिल-आवेज़ हैं सूरत की तरह
मेरी सोचें भी परीशां मेरे बालों जैसी

उसकी आँखों को कभी गौर से देखा है 'फ़राज़'
??

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image