Browse songs by

zi.ndagii Kvaab hai, thaa hame.n bhii pataa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


ज़िंदगी ख़्वाब है, था हमें भी पता
पर हमें ज़िंदगी से बहुत प्यार था
सुख भी थे, दुख भी थे, दिल को घेरे हुए
चाहे जैसा था, रँगीन संसार था

आ गई थी शिकायत लबों तक मगर
किसे कहते तो क्या कहना बेकार था
चल पड़े दर्द देकर तो चलते रहे
हार कर बैठ जाने से इनकार था

चंद दिन था बसेरा हमारा यहाँ
हम भी मेहमान थे, घर तो उस पार था
हमसफ़र एक दिन तो बिछड़ना ही था
अलविदा अलविदा अलविदा अलविदा ...

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Rajiv Shridhar 
% Date: 11/03/1996
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image