Browse songs by

zaraa sii aur pilaa do bha.ng ... o jai bam\-bholaa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


र : ( ज़रा सी और पिला दो भंग
मैं आया देख के ऐसा रंग
के दिल मेरा डोला
ओ जै बम-भोला ) -२

आ : मेरी तो अकल हुई है दंग
ये कैसा बदला तेरा ढंग
के तू था भोला

र : ओ जै बम-भोला

मुझे समझ न तू बैरागी
मैने आज तपस्या त्यागी
ऊं हूँ ऊं हूँ
आ : ए हे ए हे
र : मुझे समझ न तू बैरागी
मैने आज तपस्या त्यागी
तेरे रूप का झटका खा के
मेरी सोई जवानी जागी -२
आ : जा हट जा परे मलंग
करे क्यूँ बीच सभी के तंग
के तू था भोला

र : ओ जै बम-भोला

र : ज़रा सी और पिला दो भंग
मैं आया देख के ऐसा रंग
के दिल मेरा डोला
ओ जै बम-भोला

र : मेरे दिल से निकले हाय
गोरी क्यूँ नखरे दिखलाये
एं हूँ एं हूँ
आ : ए हे ए हे
र : एं हूँ एं हूँ
आ : जा जा
र : मेरे दिल से निकले हाय
गोरी क्यूँ नखरे दिखलाये
ज़रा हँस के गले से लग जा
तुझे क्वारा प्यार बुलाये -२
आ : तेरे तन पर चड़ गया ज़ंग
यूं ही अब क्यूँ छड़काये अंग
के तू था भोला

र : ओ जै बम-भोला

र : ज़रा सी और पिला दो भंग
मैं आया देख के ऐसा रंग
के दिल मेरा डोला
ओ जै बम-भोला

Comments/Credits:

			 % Song courtesy: http://www.indianscreen.com (Late Shri Amarjit Singh)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image