Browse songs by

zamii.n bhii chup hai ... maasuum dil kii haa.N pe

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


ज़मीं भी चुप है आसमाँ भी चुप है किसी की दुनिया उजड़ रही है
बता ऐ मालिक ये कैसी क़िस्मत जो बनते-बनते बिगड़ रही है

मासूम दिल की हाँ पे ना कह दिया किसी ने
और बस इसी बहाने ग़म दे दिया किसी ने

बाद-ए-सबा जो आई और फूल मुस्कराए -२
सहला के ज़ख़्म मेरे बहला दिया किसी ने
और बस इसी बहाने ...

मालूम क्या था हमको है रंज-ओ-ग़म की दुनिया -२
सौ-सौ सितम उठाए दो दिन की ज़िन्दगी में
और बस इसी बहाने ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image