Browse songs by

ye Kushii kaa samaa.N zindagii hai jawaa.N

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


ये ख़ुशी का समाँ
ज़िन्दगी है जवाँ
आ निगाहें मिला के तो देख
कह रही है फ़िज़ा
दो घड़ी मुसकरा
दिल की दुनिया बसा के तो देख

( मौसम नया आ गया
ले कर फ़साने नये ) -२
कहती है ये बेख़ुदी
गा ले तराने नये

( आँहों से मस्ती लुटा
दिल को मचलना सिखा ) -२
दिल की ख़ुशी के लिये
दुनिया को तू भूल जा

ये ख़ुशी का समाँ
ज़िन्दगी है जवाँ
आ निगाहें मिला के तो देख
कह रही है फ़िज़ा
दो घड़ी मुसकरा
दिल की दुनिया बसा के तो देख

( उलफ़त की राहों में आ
दामन को रंगीं बना ) -२
दिल के जहाँ को बदल
अपना मुक़द्दर जगा

ये ख़ुशी का समाँ
ज़िन्दगी है जवाँ
आ निगाहें मिला के तो देख
कह रही है फ़िज़ा
दो घड़ी मुसकरा
दिल की दुनिया बसा के तो देख

Comments/Credits:

			 % Song courtesy: http://www.indianscreen.com (Late Shri Amarjit Singh)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image