Browse songs by

ye hasarat thii ke is duniyaa me.n bas do kaam kar jaate

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


यह हसरत थी के इस दुनिया में बस दो काम कर जाते
तुम्हारी याद में जीते, तुम्हारे ग़म में मर जाते

यह दुनिया डूबती तूफ़ान आता इस क़यामत का
अगर दम भर को आँखों में मेरी आँसू ठहर जाते

तुम्हारी याद आ-आकर मेरे नश्तर चुभोती है
मगर न दिल के सारे ज़ख़्म इतने दिन में भर जाते

कहाँ तक दुख उठाएं तेरी फ़ुर्क़त और जुदाई के
अगर मरना ही था एक दिन, न क्यूँ फिर आज मर जाते

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Rajiv Shridhar 
% Date: 10/27/1996
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image