Browse songs by

vo rulaataa hai rulaae mujhe jii bhar ke

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


वो रुलाता है रुलाए मुझे जी भर के कदी (?)
वो मेरी आँख है मैं उसको रुलाऊं कैसे

अश्कों के मोती हमने पिरोए तमाम रात
इक बेवफ़ा के याद में रोए तमाम रात

ऐसी गिरी ज़हन पे यादों की बिजलियां
बैठे रहे खयालों में खोए तमाम रात

कहने लगे वो सुनके मेरा हाल-ए-दिल की बस,
इतनी सी बात पे क्या रोए तमाम रात

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Ravi Kant Rai (rrai@plains.nodak.edu)
% Editor: Anurag Shankar (anurag@astro.indiana.edu)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image