Browse songs by

us mast nazar pe pa.Dii jo nazar

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


उस मस्त नज़र पे पड़ी जो नज़र
कजरे ने कहा मत देखो इधर
मैं ने कहा मैं तो देखूँगा
कजरे न कहा देखो जी मगर
ऐ जी उलझ न जाना
कहीं उलझ न जाना
कहीं उलझ न जाना
देखो जी कहीं उलझ न जाना

सुन्दर मुखड़ा नैन सुहाने
जोबन के द्वार पे जैसे खड़े हों दो मस्ताने
भरी नज़र से देखा किसी ने
बोले पास नहीं आना
कहीं उलझ न जाना

कजरे की जोरी हँसे चोरी चोरी
जादू नज़र का चला के
नज़र के सहारे अदाओं के मारे
ज़ुल्फ़ोन का जाल बिछा के
देख के हाथ बढ़ाना
कहीं उलझ न जाना

Comments/Credits:

			 % Transliterator: K Vijay Kumar
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image