Browse songs by

ulajh gaye do nainaa, dekho

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


उलझ गये दो नैना, देखो
उलझ गये ...

ल : प्रीतम उलझी लट सुलझाये
हे : गोरी का चन्दा सा मुख शरमाये
दो : प्रीतम उलझी लट सुलझाये
गोरी का चन्दा सा मुख शरमाये
प्रीत की डोरी में बाँध कर दोनो मन ही मन मुसकाये रे
देखो उलझ गये दो नैना ...

ल : जब तक घर न आये साँवरिया
हे : तड़पे है गोरी जैसे जल बिन मछरिया
ल : बाट तकत अपने साजन की
राह में नैन बिछाये देखो
दो : उलझ गये दो नैना ...

ल : रात रुपहली तारों की छैंय्या
हे : सैंय्या के हाथों में गोरी गोरी बैंय्या
दो : रात रुपहली तारों की छैंय्या
हे : सैंय्या के हाथों में गोरी गोरी बैंय्या
ल : लाज भरे नैनों से मन की बात कही न जाये
देखो उलझ गये दो नैना
दो : उलझ गये दो नैना
देखो उलझ गये दो नैना

Comments/Credits:

			 % Transliterator: K Vijay Kumar
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image