Browse songs by

tumhaarii zulf ke saaye me.n shaam kar luu.ngaa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


तुम्हारी ज़ुल्फ़ के साये में शाम कर लूंगा
सफ़र इक उम्र का पल में तमाम कर लूंगा

नज़र मिलाई तो पूछूँगा इश्क़ का अंजाम
नज़र झुकाई तो खाली सलाम कर लूंगा

जहाँ-ए-दिल पे हुक़ूमत तुम्हें मुबारक हो
रही शिकस्त तो मैं अपने नाम कर लूंगा

Comments/Credits:

			 % Credits: C. S. Sudarshana Bhat (cesaa129@utacnvx.uta.edu)
%          Venkatasubramanian K Gopalakrishnan (gopala@cs.wisc.edu)
%          Preetham Gopalaswamy (preetham@src.umd.edu)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image