Browse songs by

tum gagan ke cha.ndramaa ho

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


तुम गगन के चंद्रमा हो, मैं धरा की धूल हूँ
तुम प्राणों के देवता हो, मैं समर्पित फूल हूँ
तुम हो पूजा मैं पुजारी, तुम सुधा मैं प्यास हूँ

तुम महासागर की सीमा, मैं किनारे की लहर
तुम महासंगीत के स्वर, मैं अधूरी साँस हूँ
तुम हो काया मैं हूँ छाया, तुम कसम मैं भूल हूँ

तुम उषा की लालिमा हो, भोर का सिंदूर हो
मेरे प्राणों का हो गुँजन, मेरे मन का मयूर हो
तुम हो पूजा मैं पुजारी, तुम सुधा मैं प्यास हूँ

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Ravi Kant Rai 
% Editor: Anurag Shankar (anurag@astro.indiana.edu)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image