Browse songs by

teraa cheharaa mujhe gulaab lage

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


तेरा चेहरा मुझे गुलाब लगे
दोनो आलम में लाजवाब लगे
दिन को देखूं तो आफ़ताब लगे
शब को देखूं तो माहताब लगे

रोज़ मिलते हो पर नहीं मिलते
ऐसा मिलना भी मुझको ख्वाब लगे
पढ़ता रहता हूँ तेरी सूरत को
तेरी सूरत मुझे किताब लगे
तेरा चेहरा मुझे...

तेरी आँखों की मस्तियां तौबा
मुझको छलकी हुई शराब लगे
जब भी चमके घटा में बिजली
मुझको तेरा ही वो शबाब लगे
तेरा चेहरा मुझे...

तुझको देखूं तो किस तरह देखूं
रुख पे किरणों के सौ नक़ाब लगे
प्यार शायद इसी को कहते हैं
एक मुझसे ही क्यूँ हिजाब लगे
तेरा चेहरा मुझे...

Comments/Credits:

			 % Credits: Rajan Parrikar (parrikar@spot.colorado.edu)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image