Browse songs by

sur mile hai.n gul khile hai.n

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


सुर मिले हैं गुल खिले हैं मस्ती में झूमे मेरा दिल
क्या नज़ारे हैं क्या इशारे हैं आँखों के आगे है मंज़िल
सुर मिले हैं ...

हम कहाँ आ गए हम कहाँ आ गए
हो सुर मिले हैं ...

भंवरे ने कलियों से कहा मौसम ज़रा है बदगुमां हो
ओ दुल्हन बनी है ये ज़मीं कितना सुहाना है समां ओ
साँसों का गाना छेड़ो कोई फ़साना छेड़ो
कोई तराना छेड़ो हाँ
हम कहाँ आ गए ...

हां साथी जो कोई संग हो चलने का आता है मज़ा ओ
तनहा गुज़ारे जो कोई ये ज़िंदगानी है सज़ा
ओ यादों के रेले होंगे हे वादों के मेले होंगे
हम ना अकेले होंगे हाँ
हम कहाँ आ गए ...

सिंदूरी शाम हो गई पंछी घरों को चल पड़े हाँ
दरिया की मौजे हैं थमीं पनघट पे खाली हैं घड़े
ओ शबनम की प्याली प्याली पेड़ों की डाली डाली
गाए कोयलिया काली हाँ
हम कहाँ आ गए ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image