Browse songs by

suhaanii raat Dhal chukii, naa jaane tum kab aaoge

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


(सुहानी रात ढल चुकी
ना जाने तुम कब आओगे ) - २
जहाँ की रुत बदल चुकी ऽ ऽ ऽ
ना जाने तुम कब आओगे

नज़ारे ऽ ऽ ऽ अपनी मस्तियां
दिखा दिखा के सो गये
सितारे ऽ ऽ ऽ अपनी रौशनी
लुटा लुटा के सो गये
हर एक शम्मा जल चुकी
ना जाने तुम कब आओगे
सुहानी रात ढल चुकी ...

तड़प रहे हैं हम यहाँ - २
तुम्हारे इंतज़ार में - २
(खिज़ा का रंग, आ चला है
मौसम-ए-बहार में ) - २
मौसम-ए-बहार में
हवा भी रुख बदल चुकी ऽ ऽ ऽ
ना जाने तुम कब आओगे

सुहानी रात ढल चुकी
ना जाने तुम कब आओगे

Comments/Credits:

			 % Credits: Satish Subramanian (subraman@cs.umn.edu)
% Transliterator: Shripad Lale (lale@cent.gud.siemens.co.at)
% Editor: Anurag Shankar (anurag@astro.indiana.edu)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image