Browse songs by

saa.Nso.n me.n kabhii dil me.n kabhii

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


रफ़ी:
(साँसों में कभी दिल में कभी नज़रों में रहा करना
जग बैरी हो तो क्या तुम हम से वफ़ा करना)-२

आशा:
(जाने प्यार निभाना दीवाने दिल की लगी के)-२
क्या है मोहब्बत ज़माना हम से ये सीखे
प्यार हमने किया प्यार हमको सदा करना
साँसों में कभी दिल में कभी नज़रों में रहा करना
जग बैरी हो तो क्या तुम हम से वफ़ा करना

रफ़ी:
(आये ख़ुशियों का मौसम कि आये ग़म का महीना)-२
आशा:
तुम्हीं पे मरना तुम्हारे संग-संग है जीना
रफ़ी:
कभी होएँ ना जुदा बस इतनी दुआ करना

साँसों में कभी दिल में कभी नज़रों में रहा करना
आशा:
जग बैरी हो तो क्या तुम हम से वफ़ा करना
रफ़ी:
जग बैरी हो तो क्या
आशा:
तुम हम से वफ़ा करना

Comments/Credits:

			 % Contributor: George Thomas (georgethomas at despammed dot com)
% Transliterator: George Thomas (georgethomas at despammed dot com)
% Editor: Vinay P Jain
% Date: 14 Apr 2005
% Series: Tere Hamsafar Geet Hain Tere (THGHT)
% generated using www.giitaayan.com
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image