Browse songs by

saa.Njh bha_ii jhaa.Njh bhed jiyaraa ke khole re

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


साँझ भई झाँझ भेद जियरा के खोले रे
साँझ भई

ठंडी पुरवइया की ठंडी-ठंडी छांव में
ठंडी-ठंडी छांव में
कहता है कोई चल सपनों के गाँव में
पी की सूरतिया
पी की सूरतिया हिया में आज डोले रे
हिया में आज डोले

अ.म्बुवा की डाली पे पपीहा पुकारे
पिया पिया, मेरे पिया अब ना सता रे
टाल नहीं बात
टाल नहीं बात आज संग संग होले मेरे
संग संग हो ले

साँझ भई

Comments/Credits:

			 % Date: 28 Jun 2004
% generated using giitaayan
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image