Browse songs by

saahil jo Dubo de kashtii ko saahil kii tamannaa kaun kare

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


( साहिल जो डुबो दे कश्ती को ) -२ साहिल की तमन्ना कौन करे -२
आराम न हो जिस मंज़िल पर मंज़िल की तमन्ना कौन करे
साहिल जो डुबो दे ...

जब दुख ही दुख हो दुनिया में रोतों पे हँस दे महफ़िल में
दुनिया से मोहब्बत किसको हो महफ़िल की तमन्ना कौन करे
साहिल जो डुबो दे ...

जब जाल बिछा हो गुलशन में और काँटे उलझें दामन में
उस बाग की ख़्वाहिश कौन करे उस गुल की तमन्ना कौन करे
साहिल जो डुबो दे ...

उम्मीद मिटी दिल टूट गया वो शमा बुझी वो दिल न रहा
टूटे हुए दिल से हँसती हुई महफ़िल की तमन्ना कौन करे
साहिल जो डुबो दे ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image