Browse songs by

ra.ng laaye Gam\-e\-dauraa.N to mazaa aa jaaye - - Talat

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


रंग लाये ग़म-ए-दौराँ तो मज़ा आ जाये
वो भी हो जायें परेशाँ तो मज़ा आ जाये

ज़िक्र करते हैं बहारों का बहुत अहल-ए-खिरद
थाम ले कोई गरेबाँ तो मज़ा आ जाये

तू समझता है जिसे बाग़-ओ-नशेमन ऐ दोस्त
वही निकले दर-ए-ज़िंदाँ तो मज़ा आ जाये

है बहुत नाज़ तुम्हें अपनी निगाहों पे 'शकील'
देख लो जलवा-ए-जानाँ तो मज़ा आ जाये

Comments/Credits:

			 % Credits: U V Ravindra
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image