Browse songs by

rahiye ab aisii jagah chal kar jahaa.N

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


रहिये अब ऐसी जगह चल कर जहाँ कोई न हो
हमसुख़न कोई न हो और हमज़बाँ कोई न हो
रहिये अब ऐसी जगह

बे-दर-ओ-दीवार का इक घर बनाया चाहिये -२
कोई हमसाया न हो और पासबाँ कोई न हो
रहिये अब ऐसी जगह

पड़िये गर बीमार तो कोई न हो तीमारदार -२
और अगर मर जाइये तो नौहख़्वाँ कोई न हो
रहिये अब ऐसी जगह

Comments/Credits:

			 % Song courtesy: http://www.indianscreen.com (Late Shri Amarjit Singh)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image