Browse songs by

puurab se ik pyaaraa jho.nkaa ... vatan ke fasaane

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


पूरब से इक प्यारा झोंका पवन उड़ाकर लाई
आज अचानक दिलबर आया याद वतन की आई

वतन के फ़साने वतन की कहानी
सताने लगी हैं वो यादें पुरानी
वतन के फ़साने ...

मेरा एक नन्हा सा बेटा था प्यारा
कभी उसको देखा नहीं फिर दुबारा
किसी हादसे में वो गुम हो गया था
अचानक कहीं भीड़ में खो गया था
लिए घूमता हूँ मैं उसकी निशानी
वतन के फ़साने ...

तड़पती रही मेरी बीवी बेचारी
कई साल करती रही इंतज़ार
वतन छोड़कर ऐसा परदेस आया
बहुत देर उसको ना मैं देख पाया
बदल गई बुढ़ापे में उसकी जवानी
वतन के फ़साने ...

मैं रोती हुई अपनी माँ छोड़ आया
मैं ममता भरा उसका दिल तोड़ आया
ना परदेश जा तू मुझे टोकती थी
वो रो रो के रस्ता मेरा रोकती थी
मगर एक भी उसकी मैने ना मानी
वतन के फ़साने ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image