Browse songs by

paan bii.Dii sigareT ... ham ko to nashaa hai muhabbat kaa janaab

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


कि: पान बीड़ी सिगरेट तम्बाकू ना शराब
श: हूँ तो फिर्र्र्र
कि: हम को तो नशा है मुहब्बत का जनाब
पान बीड़ी सिगरेट तम्बाकू ना शराब
हम को तो नशा हैं मुहब्बत का जनाब
हम तुम्हारी छोकरी से शादी करना मांगता
शादी करके साथ उसीके जीना मरना मांगता

श: #सोमे षत्रु बड़बड़ व्हिच ई दोन'त रेमेम्बेर

कि: वो दिन को हके रात, रात कहूँगा
कहे धूप को बरसात, बरसात कहूँगा
वो दो को कहे सात, सात कहूँगा
वो दिन को हके रात, रात कहूँगा
वो जो कहे मैं भी कहूँ काँटे को गुलाब
हम को तो नशा है ...

श: मुझे अपनी बेटी के लिये लगाम चाहिये
ना कि कोई ज़ोरू का ग़ुलाम चाहिये

कि: मैं ऐश करूँगा, वो काम करेगी
मैं मुजरा सुनूँगा, वो राह तकेगी
मैं सौत भी लाऊँ तो कुछ न कहेगी
तू पाँव की जूती पाँवों में रहेगी - २
अकड़ेगी तनेगी अगर ना बात सुनेगी
तो बात नहीं लात से फिर बात बनेगी
घर पे मेरे फिर चलेगा मेरा ही रुआब
हम को तो नशा है ...

श: मुझे अपनी बेटी का हाथ पीला कराना है
ना कि उसका बदन नीला कराना है

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Surma Bhopali
% Date: 14 Sep 2004
% Series: GEETanjali
% generated using giitaayan
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image