Browse songs by

o yaa qurbaan ... o sabaa kahanaa mere diladaar ko

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


ओ या क़ुर्बान

वो आँखें थी दिलबर की या नर्गिस-ए-मस्ताना
देखे हुए उस बुत को अब हो गया ज़माना
ओ सबा कहना मेरे दिलदार को
दिल तड़पता है तेरे दीदार को
ओ सबा कहना ...

ओ या क़ुर्बान
देखेंगे कब वो सूरत जिस पे बहार सदके
ये दिल तो क्या है यारों काबुल क़ंधार सदके
किस तरह भूले निगाह-ए-यार को
दिल तड़पता है तेरे दीदार को
ओ सबा कहना ...

ओ या क़ुर्बान
कैसी है ये क़यामत, ओ तू ही बता ख़ुदाया
जितना बुलाया उस को उतना वो याद आया
क्या क़रार आये तेरे बीमार को
दिल तड़पता है तेरे दीदार को
ओ सबा कहना ...

Comments/Credits:

			 % Transliterator: K Vijay Kumar
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image