Browse songs by

o ra.ngarejavaa ra.ng de aisii chunariyaa - - Manna Dey

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


ओ रंगरेजवा रंग दे ऐसी चुनरिया के रंग ना फीका पड़े

पग पग पल लाखों ही ठग थे तन रंगने की धुन में
सबसे सब दिन बच निकला मन पर बच ना सका फागुन मे.म
तो जग में ये तन ये मेरा मन रह ना सका बैरागी
कोरी कोरी चुनरी मोरी हो गई हाय रे दागी
अब जिया धड़के इस चुनरी पे सबकी नजरिया गड़े

रंग वो जिस में रंगी थी राधा रंगी थी जिस में मीरा
उसी रंग में सब रंग डूबे कह गए दास कबीरा
तो नीले पीले लाल सा बदरंगा तू ना मुझे दिखला रे
मैं समझा दूं भेद तुझे ये तू ना मुझे समझा रे
प्रेम है रंग वो चढ़ जाए तो रंग ना दूजा चढ़े

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Uday Patel, 2003-02-09
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image