Browse songs by

o o naache re raadhaa naache sakhiyaa.N naache.n

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


दो : हो ओ ओ
नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे
राधा नाचे
सखियाँ नाचें रे,
गोपियाँ नाचें कन्हैया के गाँव में
भर भर कर बिजलियाँ पाँव में

को : हो
नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे
राधा नाचे
सखियाँ नाचें रे,
गोपियाँ नाचें कन्हैया के गाँव में
भर भर कर बिजलियाँ पाँव में
हो
नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे
राधा नाचे

सु : चपल चपल चरन वाली सुन्दर सुकुमारियाँ
ऐसी लगीं जैसे हों खिलती फुलवारियाँ
को : चपल चपल चरन वाली सुन्दर सुकुमारियाँ
ऐसी लगीं जैसे हों खिलती फुलवारियाँ
सु : ओ
झूम रही हैं दायें बायें
चमचमाती चंचलायें
अंग अंग निखर रहा
प्रेम रंग बिखर रहा
आ : कंगन बोले खनन खनन
झाँझन बोले झनन झनन
सु : गोरियाँ नाचें मटक मटक
कोमल बाँहें झटक झटक

आ : भर गौई लचक नयी लताओं में
उड़ रही हैं चुनरियाँ हवाओं में

को : हो
नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे
राधा नाचे
सखियाँ नाचें रे,
गोपियाँ नाचें कन्हैया के गाँव में
भर भर कर बिजलियाँ पाँव में
हो
नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे
राधा नाचे

को : हो
नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे
राधा नाचे

आ : आज सकल बृन्दाबन मस्त हो के झूमता
धरती का गीत गगन गुम्बद को चूमता
दो : श्याम की मतवालियाँ नाचें
बजा बजा तालियाँ नाचें
सबकी नज़र ललच रही
रस की गागर छलक रही
को : ?? डोले
ढिम ढिम ढिम ढोलक बोले
ऐसा चमत्कार हुआ
पावन संसार हुआ
आ : मुरली बजी रे कदम्ब के छँव में
सूनी पड़ी हैं दामिनियाँ घटाओं में

को : हो
नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे
राधा नाचे

आ : आ
दो : कितना है उल्लास भरा रास ये कमाल का
हर नयन में नाच रहा रूप नन्दलाल का
हो
आज महाकाल मगन, धरती पाताल मगन
गगन पे धमाल मगन, सारे दिक काल मगन
आ : सजन संग थकित थकित
डोल रहे सब चकित चकित
दो : सबका जिया बावला है
सबके मन में कामना है

भक्ति रची सबकी भावनाओ में
भर गया आनन्द सब दिशाओं में

को : हो
नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे रे नाचे
राधा नाचे

Comments/Credits:

			 % Song Courtesy: http://www.indianscreen.com
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image