Browse songs by

o ho o o o dharatii kahe pukaar ke

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


ओ हो ओ ओ ओ धरती कहे पुकार के
ओ मुझको चाहने वाले किसलिए बैठा हार के
मेरा सब कुछ उसी का है जो छू ले मुझको प्यार से
धरती कहे ...

( है अजब सी बात जिस पर ) -२ मुझको हँसना आए
जो मुझी से है वो मेरी माटी से शरमाए
आ पास मेरे मतवाले भरम ये क्यों बेकार के
मेरा सब कुछ उसी ...

हल चले एक हाथ से इक हाथ कलम को थामे
फिर शीश झुकेंगे सारे ही संसार के
मेरा सब कुछ उसी ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image