Browse songs by

niiyat\-e\-shauq bhar na jaaye kahii.n

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


नीयत-ए-शौक़ भर न जाये कहीं
तू भी दिल से उतर न जाये कहीं

आज देखा है तुझको देर के बाद
आज का दिन गुज़र न जाये कहीं

ना मिला कर उदास लोगों से
हुस्न तेरा बिखर न जाये कहीं

आरज़ू है के तू यहाँ आये
और फिर उम्र भर न जाये कहीं

आओ कुछ देर रो ही लें 'नासिर'
फिर ये दरिया उतर न जाये कहीं

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image