Browse songs by

nadiyaa kinaare pe hamaraa bagaan

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


नदिया किनारे पे हमरा बगान
हमरे बगानों में झूमे आसमान, हो

दर्पन सा चमके रे तितसा का पनी
मुख देखे पानी में भोर सुहानी, हो
शिव जी के मंदिर में जागे भगवान
हमरे बगानों में झूमे आसमान, हो

पंची हो कोई तो पिंजरा बनाऊँ
बंदी हो कोई तो मैं पहरा बिछाऊँ, हो
बस में न आए रे मन बेईमान
हमरे बगानों में झूमे आसमान, हो

किसी जादूगर ने चंदा सूरज बनाए.
एक निकाले बाहर एक छुपाए, हो
खेल है जादू सा सारा जहान
हमरे बगानों में झूमे आसमान, हो

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Arunabha S Roy
% Date: 22 Nov 2004
% Series: LATAnjali
% generated using giitaayan
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image