Browse songs by

mushqil se tho.Dii sii baat hotii hai

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


मुश्क़िल से थोड़ी सी बात होती है
रह जाती है बात इतनी छोटी सी मुलाक़ात होती है
दो दिनों के बीच कितनी लम्बी-लम्बी काली-काली रात होती है

आज मिले हो फिर कल मिलोगे फिर परसों मिलोगे
ज़रा जळी-जळी मिला करो ना जी
हाल-ए-दिल आज सुना है फिर कल सुनोगे फिर परसों सुनोगे
ज़रा जळी-जळी सुना करो ना जी

तुमने कही है बात ये हसीं तेरे बिना दिल लगता नहीं
तब तो तुमको मेरे पास रहना चाहिए कहते रहना चाहिए
ये तुमने आज कहा है फिर कल कहोगे फिर परसों कहोगे
ज़रा जळी-जळी कहा करो ना जी

कुछ सोच के डर जाती हूँ शर्म से मर जाती हूँ
आँखों-आँखों में ऐसे इशारे करते हो
उफ़ तुम हँसते हो सैंया कितने अच्छे लगते हो
ऐसे तुम आज हँसे हो फिर कल हँसोगे फिर परसों हँसोगे
ज़रा जळी-जळी हँसा करो ना जी

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image