Browse songs by

mu.Nh se mat lagaa chiiz hai burii

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


म : मुँह से मत लगा चीज़ है बुरी
देख बच ज़रा चीज़ है बुरी
छोड़ दे ये मैकशी
हमनशीं मेरे हमनशीं

र : बात मत बढ़ा छोड़ दिल्लगी
होश कर ज़रा छोड़ दिल्लगी
झूठ बोलता है तू ( मैने पी नहीं ) -२
दो : त रा रा रा रू

म : देगी यह दगा फूँक देगी घर
मुझसे ना सही पर ख़ुदा से डर
गुनहगार है जो पी ले आदमी
मुँह से मत लगा ...

र : अपनी राह ले मुझसे मत झगड़
तोड़ दूँगा दिल मुझसे मत अकड़
अरे खाली-पीली छेड़ भी है याद रख बुरी
बात मत बढ़ा ...

म : देख सामने हवलदार है
गर पकड़ लिया बेड़ा पार है
जेल में कटेगी फिर तो सारी ज़िन्दगी
मुँह से मत लगा ...

र : जानता हूँ मैं पहरेदार है
बचपने का ये अपना यार है
डरने वाला मैं नहीं आए कोई भी
बात मत बढ़ा ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image