Browse songs by

muhabbat hii na jo samajhe, vo zaalim pyaar kyaa jaane

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


मुहब्बत ही न जो समझे, वो ज़ालिम प्यार क्या जाने
निकलती दिल के तारों से, जो है झंकार क्या जाने
मुहब्बत ही न जो समझे ...

उसे तो क़त्ल करना और तड़पाना ही आता है
गला किसका कटा क्यूँकर कटा तलवार क्या जाने - २
मुहब्बत ही न जो समझे ...

दवा से फ़ायदा होगा कि होगा ज़हर-ए-क़ातिल से

मज़र् की क्या दवा है ये कोई बीमार क्या जाने
मुहब्बत ही न जो समझे ...

करो फ़रियाद सर टकराओ अपनी जान दे डालो - २
तड़पते दिल की हालत हुस्न की दीवार क्या जाने - २
मुहब्बत ही न जो समझे ...

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Anurag Shankar (anurag@astro.indiana.edu)
% Credits: Biju Parameshwaran (paramesh@enuxsa.eas.asu.edu)
%          Preetham Gopalaswamy (preetham@isr.umd.edu)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image