Browse songs by

mubaarik sabako phuulo.n kaa sajaa kar laa_e hai.n saharaa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


मुबारिक सब को फूलों का सजा कर लाए हैं सह्रा
हम अपने दिल के टुकड़ों का बना कर लाए हैं सह्रा

नज़र ग़िअरों से बढ़ कर पयार में अपनों की लगती है
हम अपनी भी निगाहों से बचा कर लाए हैं सह्रा
हम अपने दिल के टुकड़ों का बना कर लाए हैं सह्रा

उथर सर चढ़ के लग जाए गा सह्रा उनके सीने से
इथर हम अपने सीने से लगा कर लाए हैं सह्रा
हम अपने दिल के टुकड़ों का बना कर लाए हैं सह्रा

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image