Browse songs by

mohabbat kii duniyaa me.n barabaad rahanaa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


गी : मोहब्बत की दुनिया में बरबाद रहना
मगर कुछ ना कहना
मोहब्बत की दुनिया में
ज़माने के ये दुख-ओ-दर्द हँस-हँस के सहना
मगर कुछ ना कहना
मोहब्बत की दुनिया में

त : मेरे दिल का शीशा अगर टूट जाये
और हाथों से दामन तेरा छूट जाये
दामन तेरा छूट जाये
गी : तो ख़ुद बन के आँसू इन आँखों से बहना -२
मगर कुछ ना कहना
मोहब्बत की दुनिया में

त : सुनाऊँ किसे अपने ग़मों का फ़साना -२
धुआँ दे रहा है मेरा आशियाना
मेरा आशियाना
गी : तमाशा समझ कर तू हँसी पल (?) ही रहना -२
मगर कुछ ना कहना
मोहब्बत की दुनिया में

त : बिगाड़ा था मैने भला क्या किसी का -२
जो लूटा गया यूँ चमन ज़िन्दगी का
यूँ चमन ज़िन्दगी का
गी : है दुनिया में रहना तो ग़म यूँ ही सहना -२
मगर कुछ ना कहना
मोहब्बत की दुनिया में

Comments/Credits:

			 % Song courtesy: http://www.indianscreen.com (Late Shri Amarjit Singh)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image