Browse songs by

mere man baajaa mirada.ng ... madan ra.ng laayaa re

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


( मेरे मन बाजा मिरदंग
मजीरा खनके रे अंग-अंग
अजब मद छाया रे
मदन रंग लाया रे ) -६

अहा
अहा अहा

सु: गोरी ओ गोरी आई कर के तू चोरी
को: गोरी ओ गोरी आई कर के तू चोरी
सु: बोल आँचल तले क्या छुपाई री
अ: कछी उमरिया है ओछी चुनरिया है
को: कछी उमरिया है ओछी चुनरिया है
अ: मैं कैसे तो जोबन छुपाऊँ री
सु: गोरी ओ गोरी हम तो पकड़ेंगे चोरी
दे-दे सीधे से तूने जो छुपाया री

को: ओ मदन रंग लाया रे
( मेरे मन बाजा मिरदंग
मजीरा खनके रे अंग-अंग
अजब मद छाया रे
मदन रंग लाया रे ) -२

हे हे -४
सु: तेरे उलझे-उलझे बाल नैन हैं लाल लगे तूने गहरी छानी है
झुक झूम रही नहीं भूल रही तेरी चाल गजब बौरानी है
तेरा अधर रंग भरता उमंग मेरे मन में ऐसा समाया रे
मिलें अंग-अंग जैसे जल में रंग हम हों अनंग मन भाया रे
को: ओ मदन रंग लाया रे
( मेरे मन बाजा मिरदंग
मजीरा खनके रे अंग-अंग
अजब मद छाया रे
मदन रंग लाया रे ) -२

अ: सोने की पिचकारी ऐसे चला दो
धरती से अम्बर तक झूला डला दो
ऊँची उठानों का सुख तो दिला दो
सह लूँगी सय्याँ की सिजरिया पिया
इसे जोबन का रस तो चढ़ा दो पिया
ओ मदन रंग लाया रे

को: ओ मदन रंग लाया रे -१०

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image