Browse songs by

mere chandaa mere nanhe

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


मेरे चँदा मेरे नंहे
तुझे अपने सीने से कैसे लगाऊँ
सूनी गोदी में कैसे उठाऊँ
छुप गये लाडले आँचलों में
रात परियों का पैग़ाम लाई
किस तरह सो गया तू अकेले
किस तरह बिन मेरे नींद आई
मेरे चँदा ...

तेरे सपने में आ तो गई मैं
अपनी मजबूरियाँ क्या बताऊँ
बूँद भी तन में बाक़ी नहीं है
भूख तेरी मैं कैसे मिठाऊँ
मेरे चँदा ...

आदमी भी है भगवान भी है
फिर भी फिरता है तू बेसहारा
कौन तुझ को गले से लगाये
पत्थरों का है ये शहर सारा
मेरे चँदा ...

दूर जाना है नंहे मुसाफ़िर
रासते में कहीं थक न जाना
थामके मेरी आहों की डोरी
ढूँड ले तू ही अपना ठिकाना
मेरे चँदा ...

Comments/Credits:

			 % Date: 1997/08/04
% Comments: A tribute to Kaifi Azmi
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image