Browse songs by

meraa jaan\-e\-bahaar aa gayaa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


ओ मेरा जान-ए-बहार आ गया हो मैं तो खिल के गुलाब हो गई
कैसा नशा छाया लोगों शबनम शराब हो गई
मेरा जान-ए-बहार ...

जलने वालों को जलने दो तीर निगाहों के चलने दो
हो यो बात किसी की नाम किसी का काम किसी का
ओ जान-ए-बहार ...

कोई कुछ न समझ पाया बात ऐसी जनाब हो गई
कैसा नशा छाया ...

सब लोगों को धोखा दे दे हे जान-ए-मन एक बोसा दे दे
मेरा जान-ए-बहार ...

बोसा क्या है जान मैं दे दूं
नहीं तेरा जवाब कोई हो चीज़ तू लाजवाब हो गई
कैसा नशा छाया ...

देख सके न मुझको बन्दे तू देख बाकी सब अन्धे
इन अन्धों से फिर क्या डरना खुल्लम खुल्ला प्यार है करना
हुआ ऐसा ये हंगामा सबकी हालत खराब हो गई
उई कैसा नशा छाया ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image