Browse songs by

mast pavan hai cha.nchal dhaara

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


मस्त पवन है चंचल धारा -२
मन की नैया डोल ना जाये
मस्त पवन है चंचल धारा
आज समा है कितना प्यारा -२
मन की नैया डोल ना जाये
मस्त पवन है चंचल धारा

(मन में हैं बेचैन उमंगें
जैसे मौजें सागर की)-२
देना? मुझको कोई? सहारा -२
मन की नैय्या ...

(मीत बिना जीवन बीते ना
राह कटे बिन साथी के)-२
राह कटे बिन साथी के
ढूँढ रही हूँ कोई किनारा
मन की नैय्या ...

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Srinivas Ganti  
% Date: July 12, 2001 
% Comments: LATAnjali
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image