Browse songs by

ma.nzil kii dhun me jhuumate gaate chale chalo

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


मंज़िल की धुन मे झूमते गाते चले चलो - २
बिछड़े हुए दिलों को मिलाते चलो चलो
हाँ मिलाते चलो चलो

(दो दिन की ज़िंदगी में कोई क्यूँ उठाये ग़म
कोई क्यूँ उठाये ग़म) - २
नग़्में ख़ुशी के सब को सुनाते चले चलो - २
बिछड़े ...

(इन्सानियत तो प्यार मोहब्बत का नाम है
मोहब्बत का नाम है) - २
इन्सानियत की शान बढ़ाते चलो चलो
बिछड़े हुए ...

(आज़ाद ज़िंदगी है तो बर्बाद क्यूँ रहे
बर्बाद क्यूँ रहे) - २
बर्बादियों से दिल को बचाते चले चलो - २
बिछड़े हुए ...

मंज़िल ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image