Browse songs by

mai.nne bhii husn kii nazaro.n me.n jagah paa_ii hai

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


मैं ने भी हुस्न की नज़रों में जगह पायी है
तुम मिले हो तो मुहब्बत से बहार आयी है
मेरे सीने पे ज़रा हाथ तो रख कर देखो
दिल की धड़कन ये नहीं प्यार की शेहनाई है

ये हसीं रूप ये ज़ुल्फ़ों के नशीले साये
जैसे भर पूर क़यामत पे शबाब आ जाये
रुख़ से पर्दे को ज़रा देर हटा रहने दो
तुम को देखेगा वही जिस की क़ज़ा आयी है
मेरे सीने पे ज़रा ...

दिल तो क्या जान भी मैं तुम पे लुटा सकता हूँ
ज़िंदगी मौत के पर्दे में छुपा सकता हूँ
मुझे ग़म दो कि खुशी अब है तुम्हारी मर्ज़ी
मैं ने तो इश्क़ में मिटने की क़सम खायी है
मेरे सीने पे ज़रा ...

इश्क़ की राह में साहिल भी है तूफ़ान भी हैं
इस में इज़्ज़त भी है रुसवाई के सामान भी हैं
मेरी जान दुनियाँ के डर से न बदल जाना तू
क्यों की अब मिल के न मिलने में भी रुसवाई है

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Vijay Kumar
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image