Browse songs by

mahabuub mere mahabuub gazab kii garmii hai

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


महबूब मेरे महबूब गज़ब की गर्मी है तेरी साँसों में
मैं पिघल गया हूँ यार मेरे
मैं पिघल गई हूँ यार मेरे आकर तेरी इन बाहों में
महबूब मेरे ...

दिलदार मोहब्बत से तेरी क्या ये मेरी हस्ती है
इक घूट में पी जाऊं इन होंठों में मस्ती है
दिल डूब गया है इन तेरी लबरेज़ छलकती आँखों में
महबूब मेरे ...

दिन रात तसव्वुर में तेरे इस दिल को मैं बहलाती हूँ
तू सामने जब आ जाता है ना जाने क्यों शरमाती हूँ
ये शर्म-ओ-हया की ज़िद कैसी तूने दी मुझे पनाहों में
महबूब मेरे ...

ये जिस्म सुलगता है ऐसे जैसे कोई आग दहकती है
ये आग सर्द होगी किस दिन हर वक़्त ये उलझन रहती है
चल हो जाएं शामिल दोनों क़ुदरत के पाक़ गुनाहों में
महबूब मेरे ...

इक दूजे की इन बाहों में

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image