Browse songs by

maar Daalegaa dard\-e\-jigar ko_ii isakii davaa kiijiye

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


(मार डालेगा दर्द-ए-जिगर
कोई इसकी दवा कीजिये) - २
ये वफ़ाएँ बहुत हो चुकी - २
आज कोई जफ़ा कीजिये
अरे मार डालेगा दर्द-ए-जिगर
कोइ इसकी दवा कीजिये

चंद ऐसी भी होती हैं बातें
हाँ जो लोग कहते नहीं
चंद ऐसी भी आती हैं रातें
कि दूर रहते नहीं
आज ऐसी ही इक रात है
साथ गुज़रे दुआ कीजिये
अरे मार डालेगा ...

आआ अर्र्त अर्र आअ...
आअ अर्र्त अर्र अह
अर्र अर्र अर्र्र अह

तड़पके यूँ कहेंगे हम
कि क्या सितम हुआ सनम
दिया है दिल, किया है प्यार
न नींद है, न है क़रार
आप से हम शिकायत करें
आप हमसे गिला कीजिये
अरे मार डालेगा ...

Comments/Credits:

			 % Contributor: Shalini Razdan
% Transliterator: Surajit A. Bose
% Date: 24 Aug 2004
% Series: GEETanjali series - 21st February, 2001
% generated using giitaayan
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image