Browse songs by

maalik tere jahaa.N me.n

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


मालिक तेरे जहाँ में, इतनी(कितनी ?) बदे जहाँ में
(कोई नहीं हमारा)-२
मालिक तेरे जहाँ में

अब किस की द्वार जाऊँ
दुख में किसे बुलाऊँ
सब ? गये किनारा
कोई नहीं हमारा
मालिक तेरे जहान में

किस हाल में भी देखो
ठुकरा रही है दुनिया
(हम पर बनी तो हम से तकरा रही है दुनिया)-२
ना आस ना दिलासा
सब तो है इक तमाशा
झूटा है हर सहार
कोई नहीं हमारा
मालिक तेरे जहाँ में

सर पे ? पाया
मुझ से बिच्चड़ गये हैं
(उम्मीद के वो मोती, आँसू में धल गये हैं)-२
क्या रात क्या सवेरा
हाथों पहर अंधेरा
टूटा हर एक तारा
कोई नहीं हमारा
(मालिक तेरे जहाँ में, इतनी बदे जहाँ में)-२
(कोई नहीं हमारा)-२
मालिक तेरे जहाँ में

Comments/Credits:

			 % Transliterator:Srinivas Ganti
% Date: 24th October 2002
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image