Browse songs by

luuTaa hai zamaane ne qismat ne miTaayaa hai

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


लूटा है ज़माने ने क़िस्मत ने मिटाया है
इक बार हँसाया था
इक बार हँसाया था सौ बार रुलाया है
लूटा है ज़माने ने क़िस्मत ने मिटाया है

दुनिया में वफ़ा कैसी उल्फ़त भी है इक धोखा -२
ये दुनिया भी देखी है
ये दुनिया भी देखी है ये धोखा भी खाया है

इस ग़म के अन्धेरे में अब याद नहीं ये भी -२
कब दीप जलाया था
कब दीप जलाया था कब दीप बुझाया है

ख़ामोश हूँ इस डर से रुसवाई न हो तेरी -२
उमडे हुये अश्क़ों को
उमडे हुये अश्क़ों को पलकों में छुपाया है

लूटा है ज़माने ने क़िस्मत ने मिटाया है

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image