Browse songs by

kyaa hai is baa.Nsuriyaa me.n ... kabhii ho.nTho.n se mujhe

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


क्या है इस बाँसुरिया में जो मुझमें नहीं साँवरिया
कभी होंठों से मुझे भी लगा ले
बाँसुरी बनाई के हो बाँसुरी बनाई के
मैं तो गाऊँ तेरे गीत मेरे मीत
सारे जग को भुलाई के
कभी होंठों से ...

तोरे संग नेहा लागा तोरे रंग राती
बन-बन द्वारे-द्वारे फिरूँ मदमाती
तुझमें ही समा गई मैं तेरे पास आई के
कभी होंठों से ...

सारा जग जान गया राधा भई श्याम की
छेड़ें तेरा नाम लेके सखियाँ सारे गाँव की
हो छलिया तूने सुध ना लीनी बावरी बनाई के
कभी होंठों से ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image