Browse songs by

ko_ii priit kii riit bataa do hame.n

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


कोई प्रीत की रीत बता दो हमें
कोई मन का मीत मिला दो हमें
कोई ऐसा गीत सुना दो हमें
खिल जाये दिल से दिल की कली -२

बनवासी मीत कहाँ जाने
परदेसी प्रीत कहाँ जाने
हम ऐसा गीत कहाँ जाने -२
खिल जाये दिल से दिल की कली -२
यहाँ दिल की कली कबही न खिली -२

ये सब शहरों के धन्दे हैं
ये हिर्स-ओ-हवस के फन्दे हैं
हम तो सैलानी बन्दे हैं
हम प्रीत की रीत कहाँ जाने -२

( दिल जंगल ही में बहलता है
यहाँ होँठों पे गीत मचलता है ) -२
यहाँ प्रेम का सागर चलता है -२

( हमें प्रीत की रीत बता दे कोई
हमें ऐसा गीत सुना दे कोई ) -२
खिल जाये दिल से दिल की कली -२
यहाँ दिल की कली तो कभी ना खिली -२

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image