Browse songs by

kitanii bechain ho ke tumase milii

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


कितनी बेचैन हो के तुमसे मिली
तुमको क्या थी खबर थी मैं कितनी अकेली
हां हां हां हां हां हां हां हां हां

कितना बेचैन हो के तुमसे मिला
तुमको क्या थी खबर था मैं कितना अकेला
हां हां हां हां हां हां हां हां हां

के कितनी मोहब्बत है तुमसे ज़रा पास आके तो देखो
क्या आग है धड़कनों में गले से लगा के तो देखो
बताई न जाए ज़ुबां से ये हालत
मेरे जिस्म-ओ-जां को तुम्हारी है चाहत
कितना बेचैन हो के ...

जो है दरमियां एक परदा इसे जान-ए-मन अब हटा दे
यही फ़ासले कह रहे हैं चलो दूरियों को मिटा दें
न कोई तमन्ना है ना कोई हसरत
मुझे तो सनम है तुम्हारी ज़रूरत
कितना बेचैन हो के ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image